बेगूसराय : मटिहानी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के पूर्व प्रत्याशी सर्वेश कुमार ने कहा कि जीडी कॉलेज बेगूसराय के अवकाश प्राप्त प्राध्यापक व श्रीकृष्ण नगर के निवासी प्रोफेसर फुलेना प्रसाद सिंह के आकस्मिक निधन से मर्माहत हैं। वैसे तो किसी अपनो के खोने का दर्द स्वभाविक है, लेकिन उनके निधन ने स्वास्थ्य विभाग की व्यवस्था पर सवाल उठाने को विवश किया है। फुलेना बाबू को फेफड़ा में पानी भरने की शिकायत की जानकारी  क्लीनिक में जांच के दौरान मिली तो उनके परिजन किसी अच्छे अस्पताल में भर्ती होकर इलाज कराने चाहते थे। बेगूसराय से लेकर पटना के नामचीन अस्पताल से संपर्क किया। सभी जगह एक जैसा जवाब, कि पहले कोरोना टेस्ट कराइए, फिर आइए। ऐसे में समय बीता और वे हमारे बीच नहीं रहे।

Sarvesh Kumar

इसी तरह बीहट के जागीर टोला निवासी प्रवीण पोद्दार का असमय निधन इस कारण हो गया कि वे आनन-फानन में कोरोना का टेस्ट रिपोर्ट नहीं दे पाये और बेगूसराय के एक नामचीन अस्पताल ने उन्हें भर्ती करने से इंकार कर दिया।

इस तरह के कई मामलों की लोग चर्चा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय जी से विनम्र निवेदन है कि वे निजी व सरकारी अस्पताल को निर्देशित करें कि कोरोना के नाम पर किसी को बेमौत नहीं मारे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here