पिछले आठ-दस दिनों से अमेरिका में चल रही हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है! अश्वेत जॉर्ज फ्लायड की मौत को लेकर लोगों में गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा है! प्रदर्शनकारियों ने कर्फ्यू तोड़कर रोड पर खूब तमाशा किया हैं। मंगलवार रात अमेरिका में वाशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास के बाहर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा को प्रदर्शनकारियों ने खूब नुकसान पहुंचाया है और इस घटना पर नई दिल्ली में अमेरिका के राजदूत केंस्टर ने माफी मांगी है! उन्होंने कहा कि वॉशिंगटन डीसी में गांधी प्रतिमा को क्षति पहुंचाए जाने से हम शर्मिंदा है! कृपया हमारी माफी को स्वीकार करें!
इलाके में रहने वाले कुछ लोगों ने बताया कि प्रदर्शनकारियों में शामिल कुछ अराजक तत्वों ने स्प्रे पेंटिंग से प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया है!

घटना के बाद महात्मा गांधी की प्रतिमा को ढक दिया गया है ! इसके बाद बुधवार को मेट्रोपॉलिटन पुलिस के अधिकारियों ने घटनास्थल का दौरा किया और मामले की जांच शुरू कर दी है!

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2 से 3 दिन पहले हिंसा को रोकने के लिए सेना तैनात करने का निर्णय लिया था लेकिन उनके उस निर्णय का विरोध उनके रक्षा मंत्री के साथ-साथ कई पूर्व जनरल ने भी किया डोनाल्ड ट्रंप इस हिंसा को रोकने में असमर्थ नजर आ रहे हैं! उनके द्वारा किए गए ट्वीट और भाषण बाजी से अमेरिका में मामला गड़बड़ाता ही जा रहा है और यह हिंसा रुकने का नाम नहीं ले रही है!

अश्वेत जॉर्ज फ्लायड की मौत के बाद ट्रंप ने जिस तरह से इस मामले को लिया है उससे आम अमेरिकी लोगों के साथ-साथ देश की मीडिया भी उनसे काफी खिन्न हैगुस्साए अमेरिकियों को राष्ट्रपति ट्रंप का रवैया सुहा नहीं रहा है! हिंसा के दौरान प्रदर्शनकारियों ने व्हाइट हाउस के पास 200 साल पुराने सेंट जॉन चर्च को काफी नुकसान पहुंचाया था! ऐसे में ट्रंप की छवि सुधारने के लिए बेटी इवानका ने उन्हें एक आईडिया दिया था कि वे उस चर्च के पास जाकर अपना फोटो शूट कराएं ताकि उनकी छवि में सुधार आए लेकिन बेटी इवांका का यह आईडिया उल्टा पड़ गया और इससे ट्रंप की छवि पहले से ज्यादा खराब हो गई! प्रदर्शनकारियों के साथ-साथ ईसाई धर्मगुरुओं ने भी ट्रंप की इस बात के लिए कड़ी आलोचना की थी!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here