विश्व की सबसे बड़ी चुनौती कोरोना वायरस ने विश्व की सबसे बड़ी महाशक्ति कहे जाने वाले देश को झुका दिया है। जी हां अमेरिका कोरोना के सामने घुटने टेकते हुए नज़र आ रहा है  कोरोना ने पूरे अमेरिका मे मौत का तांडव मचा दिया है।अमेरिका पूरी तरह से नाक़ाम है इस वायरस को अपने देश से कम करने में। दिन प्रतिदिन अमेरिका में कोरोना संक्रमित लोगो की संख्या भी बढ़ती जा रही है।अमेरिका ने चीन को इसका दोषी ठहराया है।

कोरोना वायरस से प्रभावितों के आंकड़ों पर नजर रखनेवाली एक संस्था जॉन्स हॉपकिन्स के  डाटा के अनुसार वीरवार को अमेरिका  में मरने वालों की संख्या 31 हजार को पार कर गई है ।अमेरिका मे 24 घंटों में संक्रमण के कारण 4,491 लोगों की मौत हुई जो बताया जा रहा है कि यह एक दिन में मौत का सबसे ज्यादा आंकड़ा है।जबकि अमेरिका में इस वायरस से संक्रमित मरीजों की तादाद देश में 6 लाख से ज्यादा है। 

अगरअमेरिका के बाद सबसे बुरी तरह प्रभावित देश की बात करें तो इटली अमेरिका के बाद आता है जहां संक्रमण के कुल 1,65,155 मामलों में से 21,645 लोगों की मौत हो चुकी है।कोरोना वायरस के कारण सबसे अधिक मौत अमेरिका मे हुई है।

वही अमेरिकी रिसर्चर्स की ओर से  एक दावा किया जा रहा है जिसने अमेरिका के लोगो को परेशान कर दिया है क्योंकि रिसर्च के मुताबिक अगर जल्द ही कोरोना की वैक्सीन नहीं बन पाती है तो फिर अमेरिका में सोशल डिस्टेंसिंग का टाइम 2022 तक जा सकता है।यह बिल्कुल डरा देनी वाली बात है। अमेरिका ने पहले कहा था वह लॉकडाउन जल्द खत्म कर देगा लेकिन इन मौत के आंकड़ों को देखते हुए अब अमेरिका मे लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी है।

भारत अभी पूरी तैयारी कर रहा है ताकि देश के लोगो को कोरोना महामारी के कहर बचाया जा सके वरना भारत, इटली और अमेरिका जैसे आंकड़ो को पार करने मे देरी नही लगाएगा।इसलिए The News 1 आपसे कहता है कोरोना वॉरियर बन कर देश को इस महामारी से बचाने के लिए सरकार की मदद करे घरो मे रहे ,सुरक्षित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here