बिहार के शिक्षकों के तरफ से एक बड़ी खबर सामने आई है जी हां बिहार में जो 78दिनों से शिक्षकों की हड़ताल चल रही थी वो अब समाप्त हो गई है।हम आपको बता दें कि बिहार में नियोजित व माध्‍यमिक शिक्षकों की हड़ताल अब पूरी तरह से समाप्‍त हाे चुकी है। इस बार खुद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने  माध्‍यमिक शिक्षक संघ से इस मुद्दे पर बातचीत की जिसके बाद अब हड़ताल को वापस लेने की घोषणा कर दी गई। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चार लाख नियोजित शिक्षकों की हड़ताल पूरे 78 दिनों तक चली थी,जिसे अब समाप्त कर दिया गया है

लेकिन इस बार बिहार की सरकार को लिखित आश्वासन देना पडा तथा लिखित आश्वासन के बाद ही बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक समन्वय समिति और बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ने सोमवार को हड़ताल खत्म करने की घोषणा कर दी।

यही नही इससे पहले शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने अपने कार्यालय कक्ष में दोनों संगठनों के प्रमुख प्रतिनिधियों से बातचीत की ये पूरी वार्ता नीतीश कुमार के निर्देश पर हुए थी। इस पूरी वार्ता के बाद अपर मुख्य सचिव महाजन के बताया कि शिक्षा विभाग के अनुरोध पर दोनों संगठनों ने बेमियादी हड़ताल को वापस लेने की घोषणा की और इसकी लिखित सूचना विभाग को भी दे दी गई है।

लेकिन अभी देश में कोरोना के कारण शिक्षक संगठनों ने यह मांग की है कि जब स्तिथि सामान्य हो जाएगी तब एक बार फिर से उनके प्रतिनिधियों के साथ वार्ता होनी चाहिए।

साथ ही हड़ताल के समय में जो भी सरकार द्वारा शिक्षकों पर कार्यवाई चल रही थी उसे वापस ले लिया गया है दरअसल, हड़ताल के दौरान शिक्षकों पर सरकार द्वारा की गई निलंबन व प्राथमिकी आदि की कार्रवाई को इस पूरी वार्ता के बाद  वापस ले लिया गया है।यही नही शिक्षकों के हड़ताल अवधि को छुट्टियों में सामंजन कर उन्हें पूरे वेतन का भुगतान किया जाएगा।

चलिए आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि इसी साल 17 फरवरी से बिहार नियोजित प्रारंभिक समन्वय समिति की हड़ताल शुरू हुई थी, तो वही दूसरी तरफ 25 फरवरी से बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ने हड़ताल शुरू की थी।

चलिए एक बार उन बिंदुओं पर नज़र डाल लेते हैं जिसपर वार्ता कर सहमति बनी है :

●हड़ताल अवधि में जिन शिक्षकों पर दंडात्मक कार्रवाई हुई वो सब वापस ली जाएगी

● हड़ताल अवधि को छुट्टियों में सामंजित किया जाएगा

● हड़ताल अवधि के वेतन का एकमुश्त भुगतान होगा

● समान काम, समान वेतन और सेवा शर्त नियमावली जैसे मुद्दों पर कोरोना महामारी के बाद परिस्थिति सामान्य होने   पर वार्ता होगी। बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, ने इस बात की खुशी जताई है और सभी शिक्षकों को बधाई दी है, उन्होंने बिहार के चहुमुखी विकास की कामना की है। अब देखना ये होगा कि बिहार की बेहतर शिक्षा प्रणाली के लिए क्या-क्या कदम उठाए जाते हैं जिससे वास्तव मे बिहार का विकास हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here