इस वक़्त जहां लॉकडॉउन में बाकी चैनेलों का हाल बेहाल है, वहीं दूरदर्शन बल्ले- बल्ले कर रहा है। आपको बता दें कि इस वक़्त लॉकडॉउन में सब लोग अपने- अपने घरों में हैं। तो लॉकडॉउन के मद्देनजर दूरदर्शन ने लोगों के मनोरंजन को ध्यान में रखते रामायण का प्रसारण किया। जिसने सारे रिकार्ड्स तोड़ दिए। अब रामायण के बाद दूरदर्शन ने उत्तर रामायण यानी कि लव कुश की रामायण के प्रसारण का फैसला लिया है। उत्तर रामायण में श्रीराम राज्याभिषेक से लेकर जल समाधि तक है।

आपको बता दें कि लगभग 30 वर्ष पुराने इन कार्यक्रमों को देखने के लिए लोग आज भी उसी तरह उत्साहित हैं जैसे पहले हुआ करते थे। लोग सारे काम छोड़कर टी वी के आगे बैठ जाया करते थे। गालियां सुनसान हो जाया करती थी। आपको बता दें कि उत्तर रामायण के कुल 39 एपिसोड्स बनाये गए थे और इसके प्रोड्यूसर भी रामानंद सागर ही थे। उत्तर रामायण का प्रसारण 30 जुलाई 1988 से लेकर फरवरी 1989 तक हुआ था। इसमें लव और कुश का किरदार स्वप्निल जोशी और मयूरेश अक्षेत्रमाडे ने निभाया था और इसमें बाकी कलाकार जैसे अरुण गोविल, दीपिक चीकलिया, सुनील लहरी, दारा सिंह, विजय कविश ये सब भी वही थे, जिन्होंने उत्तरकांड यानी रामायण में काम किया था। इसमें हम विजय कविश की बात करें तो वो रामायण में महार्षि वाल्मीकि की भूमिका निभा चुके हैं। इसके साथ साथ उन्होंने शिव जी, और रावण के नाना का भी किरदार निभाया था।

उत्तर रामायण के 1 एपिसोड में खर्च लगभग 8- 9 लाख रुपये तक आता था और 1 एपिसोड की कमाई 30- 35 लाख होती थी। 30 पहले धमाकेदार एक्टिंग की शुरआत करने वाले लव और कुश अब अलग- अलग रास्तों पर निकल हुए हैं। जी हाँ, आपको बता दें कि अब स्वप्निल जोशी मराठी इंडस्ट्री के एक लोकप्रिय अभिनेता हैं। वहीं बात करें मयूरेश अक्षेत्रमाडे की तो वो न्यू जर्सी की एक बड़ी कंपनी के CEO हैं। मयूरेश कॉरपोरेट दुनिया के जाने माने लेखक भी हैं। उन्होंने दो विदेशी लेखकों के साथ मिलकर Spite And Development नाम की किताब भी लिखी है।

दूरदर्शन पर दोबारा प्रसारण के बाद भी इस दौर में रामायण ने इतिहास रच दिया है। इस कार्यक्रम की TRP ने सारे रिकार्ड्स तोड़ दिए हैं और तीन दशकों बाद भी सोशल मीडिया पर सबसे पसंदीदा कार्यक्रम बना हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here