छोटे पर्दे के बड़े कलाकार अरुण गोविल एक बार फिर रामायण से चर्चा में आ गए है। जी हां अरुण गोविल एक बार फिर से चर्चाओं में हैं  लेकिन इस बार यह कारण कुछ अलग बताया जा रहा है रामायण से देशभर में खूब पहचान मिलने के बाद अरुण गोविल एक बार फिर से लॉकडाउन के दौरान दोबारा  छोटे पर्दे पर नजर आ रहे हैं और इस बार भी उन्हें दर्शकों का खूब प्यार मिल रहा है एक समय था जब उन्हें सभी लोग भगवान के स्वरुप मानने लगे थे और आज भी मानते हैं लेकिन इन दिनों अरुण गोविल एक बयान को लेकर वापस से चर्चाओं में बने हुए हैं उस बयान में उन्होंने कुछ ऐसा कहा है जिसे सुनकर आप भी हैरान हो सकते हैं उन्होंने ट्वीट करते हुए कुछ ऐसा लिखा है जिसको सुनकर आप भी चौंक जाएंगे उन्होंने  ट्वीट करते हुए कहा कि चाहे कोई राज्य सरकार हो या केंद्र सरकार, मुझे आज तक किसी सरकार ने कोई सम्मान नहीं दिया है. मैं उत्तर प्रदेश से हूं, लेकिन उस सरकार ने भी मुझे आज तक कोई सम्मान नहीं दिया. और यहाँ तक कि मैं 50 साल से मुंबई में हूं, लेकिन महाराष्ट्र की सरकार ने भी कोई सम्मान नहीं दिया.दरअसल ट्विटर पर सवाल पूछे जाने के बाद उन्होंने ट्विटर के जरिए ये बताया था जिसके बाद ट्विटर पर #AwardForRamayan ट्रेंड करने लगा।

इन सभी चर्चाओं के बाद उन्होंने सफाई देते हुए एक और नया ट्वीट किया इस बार उन्होंने कहा “मेरा मंतव्य, प्रश्न का उत्तर देना था. कोई अवार्ड पाने की आकांक्षा नहीं थी. हालांकि राजकीय सम्मान का अपना अस्तित्व होता है पर दर्शकों के प्यार से बड़ा कोई अवार्ड नहीं होता जो मुझे भरपूर मिला है. आप सभी के असीम प्रेम के लिए सप्रेम धन्यवाद”.

 जैसा कि आप सभी जानते ही हैं कि लॉकडाउन की वजह से दूरदर्शन पर एक बार फिर से रामायण का प्रसारण चल रहा है.वैसे ये पूरा वाक्य जानने के बाद तो हैरानी होती है कि इतने बेहतरीन अभिनय के बाद भी अभी तक उनके काम को सरहाना नही मिली लेकिन देश की जनता ने उन्हें प्यार देने मे कोई कमी नहीं छोड़ी।अब देखना होगा कि क्या आने वाले समय में अरुण गोविल को कोई अवॉर्ड मिलता है या नहीं।

चलिए कुछ ट्वीट्स पर नज़र डाल लेते हैं एक यूजर ने ट्वीट करते हुए लिखा था, “अरुणजी आप खुद एक सम्मान हैं हमारे लिए। आपको कोई सम्मान दे या न दे भारत के सभी घरों में राम के रूप में आपको देखते हैं और पूजा करते हैं। वही एक और यूजर कमेंट करते हुए लिखता है, “करोड़ों लोग आप में राम देखते हैं। ऐसा सम्मान किसी को मिल सकता है? मेरा बेटा आपको ही राम समझता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here